सुविचार

शब्द क्रांति में आपका स्वागत है । अपना मूल्यवान समय निकालकर आने हेतु आभार । अपनी प्रतिक्रिया देना न भूलें ।

15 अगस्त 2016

हे वीर शहीदों (देशभक्ति गीत)

हे वीर शहीदो, हे वीर शहीदों ।
जाने न दूँगा तेरा शहीदी बेकार ।
चाहे धरा पर आँधी आये ।
चाहे तन पर व्याधि आये ।
चाहे राज पर खाज आये ।
चाहे धरा पर बाज आये ।
एक मरे तो करूँगा सौ तैयार ।
हे वीर शहीदो, हे वीर शहीदों ।
जाने न दूँगा तेरा शहीदी बेकार ।
इस गण का तंत्र मै हूँ ।
सब मंत्रों का मंत्र मै हूँ ।
हाथियों का दंत मै हूँ ।
शिवजी सा निलकंठ मैं हूँ ।
वक्त पड़े तो उठा लूँगा सारा संसार ।
हे वीर शहीदो, हे वीर शहीदों ।
जाने न दूँगा तेरा शहीदी बेकार ।
चाहे कुकुर कितनो भौके ।
चाहे सुकर कितनों चौके ।
चाहे सीमा कितनो लाघें ।
चाहे कूटक कितनों बाँधे ।
पलक झपकते ही फैला दूँगा अंधकार ।
हे वीर शहीदो, हे वीर शहीदों ।
जाने न दूँगा तेरा शहीदी बेकार ।

मेरा देश महान

पास्ट हो या फ्यूचर,
फेसबुक हो या ट्विटर,
व्हाट्सएप्प हो या मूषक,
सब में है योगदान ।
मेरा देश महान, हमारा देश महान ।
इस देश का है ऐसा आइडिया,
चाहे वर्ल्ड का कोई हो सोशल मिडिया,
सब पर रखता अभिमान,
मेरा देश महान, हमारा देश महान ।
टी मैन हो या संतरी,
आउटसाईडर हो या मंत्री,
सब होते है यहाँ विराजमान,
मेरा देश महान, हमारा देश महान ।
ब्लैक मैन हो या व्हाईटर,
सब बनते है यहाँ फाईटर,
होते देश के लिए कुर्बान,
मेरा देश महान, हमारा देश महान ।

14 अगस्त 2016

हमारा राष्ट्र पर्व

स्वतंत्रता दिवस है राष्ट्र पर्व,
हम राष्ट्र ध्वज फहराएंगे,
दुश्मनों को छक्के छुड़ाकर,
देश का सम्मान बढ़ाएंगे।
कर्तव्य पथ पर अडिग रहकर,
शीश कभी न झुकाएँगे।
जो थाती मिली है  गर्दिश में,
उसको हम मिलकर बचाएंगे ।
हम ऐसा राष्ट्र बनाएंगे ।
सर्व-धर्म का हित जहां होगा।
स्वतंत्रता, प्रेम और बंधुत्व का,
गुण ही केवल समाहित होगा।
      लेखक-जेपी हंस