कहाँ है मेरा भारत देश...

Sunday, December 18, 2016
कल रांची में एक छात्रा के साथ गैंग रेप की बुरी तरह रूह को कंपकपाने वाली घटना से मौत हुई..इस पर तड़पती मेरी चंद पंक्तियां... टूटे दिल,बिखर...

जमशेदपुर कवि सम्मेलन

Thursday, November 24, 2016
दोस्तों, कल मैं एक कवि सम्मेलन में गया था,वहां कवि सम्मेलन के पोस्टर में कवि सम्मेलन की जगह कवि सम्म लेन लिखा हुआ था. इस बात की जानकारी जब...

दीपावली के बधाई संदेश...

Sunday, October 30, 2016
मेरी दुआ है कि यह पवित्र त्योहार आपके जीवन में उत्साह, खुशियाँ, शांति और प्यार से सदा के लिए आपके जीवन को भर दे! यह उत्साह वाला पल आपके ज...

दिवाली नहीं आते।

Friday, October 28, 2016
लगे है वाइ-फाई जबसे​ ​तार भी नहीं आते​​;​​ ​बूढी आँखों के अब मददगार भी नहीं आते​​;​​ ​​गए है जबसे शहर में कमाने घर के छोरे;​​ ​​उनके घर...

धरा की जननी कौन है?

Sunday, September 18, 2016
विवश है आज धरा पर नारी, अपनी अस्मत बचाने को । रक्षक ही भक्षक बन बैठे, पल-पल उन्हें सताने को । मुद्दे जघन्य है जर्रा-जर्रा पर, कर्तव...

हिन्दी हूँ मैं....

Monday, September 12, 2016
“ निज भाषा उन्नति अहै, सब उन्नति को मूल, बिनु निज भाषा ज्ञान के, मिटै न हिय को शूल. ”       उपरोक्त पंक्तियाँ भारतेंदु हरिश्चंद ने हिंद...

मेरा देश महान

Monday, August 15, 2016
पास्ट हो या फ्यूचर, फेसबुक हो या ट्विटर, व्हाट्सएप्प हो या मूषक, सब में है योगदान । मेरा देश महान, हमारा देश महान । इस देश का है ऐसा आ...

हमारा राष्ट्र पर्व

Sunday, August 14, 2016
स्वतंत्रता दिवस है राष्ट्र पर्व, हम राष्ट्र ध्वज फहराएंगे, दुश्मनों को छक्के छुड़ाकर, देश का सम्मान बढ़ाएंगे। कर्तव्य पथ पर अडिग रहकर, श...

चक्कर @ का

Saturday, May 14, 2016
चक्कर कई तरह के होते हैं, जैसे चक्कर खाना, चक्कर खाकर गिर जाना, दफ्तर का चक्कर लगाना, किसी अधिकारी का चक्कर लगाना या पूजा-पाठ के समय देवी-...

एक और निर्भया...

Wednesday, May 11, 2016
वक्त बदला, सत्ता बदली, न बदला कोई आचार-व्यवहार । पहले दिल्ली फिर केरल, नारी शक्ति हुई शर्मसार । अन्तर सिर्फ इतना रह गया, सत्ता और तंत...

होली आई रे होली आई ।

Sunday, March 20, 2016
होली आई रे होली आई । पहला होली उनका संग मनाई। जो गिर पड़े है पउआ चढ़ाई। पकड़ के उनका ऐसा नली मे गिराई। जिसका गंध कोई न सह पाई। होली आई र...

शायरी

Sunday, March 20, 2016
ये दुनिया ये महफिल बड़े काम का है। मेरे टेबल पर रखा दवा जुकाम का है । खा न लेना दिल के दर्द का दवा समझकर, ये मत समझना की तेरे जन्नत-ए-इं...

आराम करो महाशय जी...

Tuesday, January 05, 2016
#कॉपी_पेस्ट आराम करो  महाशय जी गरम  रजाई को ओढ़ । समझ गए नहीं दे पाओगे तुम जवाब मुँह तोड़ ।। बर्दास्त नहीं अच्छे दिनों में घुट घुट क...
Powered by Blogger.