हमारा राष्ट्र पर्व

स्वतंत्रता दिवस है राष्ट्र पर्व,
हम राष्ट्र ध्वज फहराएंगे,
दुश्मनों को छक्के छुड़ाकर,
देश का सम्मान बढ़ाएंगे।
कर्तव्य पथ पर अडिग रहकर,
शीश कभी न झुकाएँगे।
जो थाती मिली है  गर्दिश में,
उसको हम मिलकर बचाएंगे ।
हम ऐसा राष्ट्र बनाएंगे ।
सर्व-धर्म का हित जहां होगा।
स्वतंत्रता, प्रेम और बंधुत्व का,
गुण ही केवल समाहित होगा।
      लेखक-जेपी हंस

No comments

अपना कीमती प्रतिक्रिया देकर हमें हौसला बढ़ाये।

Powered by Blogger.